February 29, 2024

HNN MEDIA

हर खबर की सच्चाई

उत्तराखंड में निवेश पर करार, तीन लाख करोड़ पार..

उत्तराखंड में निवेश पर करार, तीन लाख करोड़ पार..

 

 

 

 

उत्तराखंड: आठ व नौ दिसंबर को होने वाला वैश्विक निवेशक सम्मेलन डेस्टिनेशन उत्तराखंड की थीम पर आधारित है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे। सीएम पुष्कर सिंह धामी का कहना हैं कि हम तीन लाख करोड़ रुपये के निवेश के एमओयू कर चुके हैं। इन निवेश को जमीन पर उतारने के प्रयास शुरू हो चुके हैं।

सीएम ने सोशल मीडिया पर वीडियो संदेश जारी कर कहा कि निवेशक सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य इकोलॉजी और इकोनॉमी को समन्वय बनाते हुए राज्य में अधिक से अधिक रोजगार सृजन है। हमें सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करते हुए भविष्य में देवभूमि को अग्रणी राज्य बनाने के सपने को साकार करना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमारे प्रेरणा स्रोत हैं। उन्हीं के मार्गदर्शन में निवेशक सम्मेलन हो रहा है। यह देश को फाइव ट्रिलियन इकोनॉमी बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने जा रहा है। उनका कहना हैं कि राज्य सरकार की सिंगल विंडो सिस्टम पॉलिसी बेहतर और सरल है और निवेश को आकर्षित करने वाली है। बाबा केदार के धाम से निकली प्रधानमंत्री की शिव रूपी वाणी कि 21 सदी का यह तीसरा दशक उत्तराखंड का दशक होगा मूर्तरूप देने के लिए हमारी सरकार पूर्ण रूप से कटिबद्ध है। हम इसके लिए अनवरत रूप से प्रयास करते रहेंगे।

अंबानी, अदाणी समेत कई नामी उद्यमी भी कर सकते हैं निवेश का एलान..
वैश्विक निवेशक सम्मेलन में निवेश प्रस्ताव पर करार तीन लाख करोड़ पार होने की संभावना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में बड़े उद्योग घरानों के उद्योगपतियों के साथ निवेश पर करार किया जाएगा। उद्योगपति मुकेश अंबानी और गौतम अदाणी भी देवभूमि उत्तराखंड में निवेश का एलान कर सकते हैं। प्रदेश सरकार अब तक हुए रोड शो व अन्य कार्यक्रमों में 2.50 लाख करोड़ के निवेश लक्ष्य पर एमओयू हस्ताक्षर कर चुकी है।

आठ हजार से अधिक निवेशक और उनके प्रतिनिधि होंगे शामिल..

आठ व नौ दिसंबर को देहरादून के एफआरआई में होने वाले वैश्विक निवेशक सम्मेलन में आठ हजार से अधिक निवेशक और उनके प्रतिनिधि शामिल होंगे। आयोजन के लिए व्यापक तैयारियां की जा रही है। उद्योगपति मुकेश अंबानी, गौतम अदाणी, संजीव पुरी, सज्जन जिंदल, बनमाली अग्रवाल, चरणजीत बनर्जी, बाबा रामदेव के साथ ही स्पेन, स्लोवानिया, नेपाल, क्यूबा, ग्रीस, आस्ट्रिया, जापान, सऊदी अरब के राजदूत सम्मेलन में शामिल होंगे।

ये बड़े निवेश प्रस्ताव..

जेएसडब्लू कंपनी पंप स्टोरेज प्लांट में 15 हजार करोड़, नैनी पेपर्स कंपनी पेपर पल्प प्रोजेक्ट में तीन हजार करोड़, एगर टेक्नोलॉजी कंपनी लीथियम ऑयन बैटरी रिसाइकिलिंग में दो हजार करोड़, आईटीसी कंपनी पेपर एंड पल्प में पांच हजार करोड़, हयाय ग्रुप फाइव स्टार होटल में दो हजार करोड़, खमास कंपनी टिहरी में आतिथ्य क्षेत्र में दो हजार करोड़ और लुलू समूह के साथ रिटेल, मॉल और आतिथ्य क्षेत्र में 1700 करोड़ के निवेश पर करार हो चुका है।